Uttarkashi Tunnel Collapse : पिछले 48 घंटे से 40 मजदूर सुरंग में फंसे। बचाओ अभियान में बड़ी चुनौती

Uttarkashi Tunnel Collapse: पिछले 48 घंटे से 40 मजदूर सुरंग में फंसे। बचाओ अभियान में बड़ी चुनौती… 

Uttarkashi tunnel collapse: आपको बता दें कि उत्तरकाशी में एक सुरंग जिसका निर्माण कार्य चालू है उसपर पिछले 48 घंटे से 40 मजदूरों के फंसे होने की सूचना मिली है। पिछले 48 घंटे से मजदूरों को निकालने की भारी मशक्कत की जा रही है, लेकिन सुरंग में स्थित मलवे से मजदूरों को बाहर निकलने में बहुत परेशानी हो रही है। 48 घंटे से चल रहे रेस्क्यू ऑप्शन से अभी तक किसी तरीके की कोई सफलता हाथ नहीं लगी है।
सीएम पुष्कर धामी ने उत्तरकाशी स्थित सुरंग पर जाकर बचाव कार्य का निरीक्षण किया है। तथा यह आश्वासन दिया है कि सभी मजदूरों को जल्दी ही बाहर निकाल लिया जाएगा।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

आपको बता दें कि उत्तराखंड राज्य के उत्तरकाशी में स्थित एक निर्माण अधीन सुरंग के धसने के बाद वहां 40 मजदूर के फंसे होने की सूचना मिली थी, जिसका रेस्क्यू ऑपरेशन तुरंत शुरू कर दिया गया था,लेकिन अभी तक करीब 48 घंटे से ज्यादा हो गए हैं, जिसमें वहां उपस्थित अधिकांश मालवे को हटाकर बाहर निकाला जा रहा है और मजदूरों को बचाने की पूरी कोशिश की जा रही है।

अभी तक करीब 60 मीटर लंबे टनल में फंसे हुए मलबे को बाहर निकाला जा चुका है और अभी लगभग 30 मी मलवा और निकला जाना बाकी है।
कुछ अधिकारियों का कहना है की हमारा सबसे पहला मकसद अंदर फंसे हुए कर्मचारी से कम्युनिकेशन स्थापित करना था, जिससे यह जानकारी मिल सके कि वह अभी सुरक्षित हैं, तथा हम उन्हें जरूरत का सामान वहां तक पहुंचा सकें।

मजदूर तक जरूरत के समान पहुंचने की कोशिश:

आपको बता दें कि सुरंग के क्षतिग्रस्त होने से उसमें उपस्थित ऑक्सीजन की पूर्ति करने वाली बड़ी पाइप की क्षतिग्रस्त हो गई है, जिससे अब उन्हें ऑक्सीजन सिलेंडर व अतिरिक्त ऑक्सीजन की पूर्ति की जा रही है, तथा उन्हें जरूरत का सामान पहुंचाया जा रहा है, और पानी आदि की व्यवस्था की जा रही है।

राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल, राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल और पुलिस बल के साथ मिलकर सभी टीम जेसीबी के माध्यम से भारी मात्रा में मलवे को बाहर निकालने की लगातार कोशिश कर रही है।

मजदूरों से की जा रही बात करने की कोशिश:

आपको बता दें कि वहां उपस्थित द इंडियन एक्सप्रेस की टीम से नवयुग इंजीनियरिंग के मैकेनिक फोरमैन शशि चौहान जो की सुरंग के निर्माण का काम संभाल रहे थे, उन्होंने द इंडियन एक्सप्रेस टीम से कहा की लगभग 55 से 60 कर्मचारी अपनी रात की शिफ्ट खत्म करने के बाद दिवाली मनाने के लिए लौट रहे थे, तभी एकदम से 5:30बजे सुरंग का एक हिस्सा गिर गया जिसमें से अधिकतर कर्मचारी घबरा गए क्योंकि वहां पर कम्युनिकेशन का कोई भी जरिया नहीं था।

जिससे उनके दबे होने की खबर किसी को पता नहीं थी। अतिरिक्त मालवा होने के कारण उनके पास वॉकी टॉकी होने के बाद भी वह किसी से कम्युनिकेशन नहीं कर पा रहे थे। वहीं पर उपस्थित पाइप का सहारा लेकर उनसे संचार स्थापित करने की कोशिश की गई और उन्हें आश्वासन दिया गया कि उन्हें जल्दी बाहर निकाल लिया जाएगा।
इसी तरह वह सभी कर्मचारी शांत हो गए और उन्हें खाने-पीने की चीज मुहैया कराई जा रही है, जिससे उनको निकालने में लगने वाले समय तक वह अपने आप को सुरक्षित रख सकें।

लगभग 4500 मी की सुरंग बनाने की तैयारी की गई:

उत्तराखंड के उत्तरकाशी में ऑल वेदर रोड परियोजना के तहत लगभग 4500 मीटर की सुरंग बनाने का कार्य नवयुग इंजीनियरिंग द्वारा किया जा रहा है। जो कि अगले साल फ़रवरी माह तक कंप्लीट हो जाने की उम्मीद थी, जो की अब बढ़ती हुई नजर आज रही है सरकार का सबसे बड़ा कार्य अब सुरंग में फंसे हुए मजदूरों को सुरक्षित बाहर निकलना है, जिसके लिए हर मुमकिन कोशिश की जा रही है।

मलवे को काटकर निकाला जाएगा बाहर:

आपको बता दें कि सचिव रणजीत सिंह ने कहा कि वे शॉर्टक्रिएट विधि का उपयोग करेंगे, जो की पहली बार की जाएगी जिसके तहत एक मशीन से मलवे को काटकर एक पाइप अंदर तक डाला जाएगा और जिसमें 900 मिलीमीटर तक लंबा स्टील पाइप डाल जाएगा। इसे अंदर डालने में उपयोग की जाने वाली मशीन देहरादून में स्थित है जिसे जल्द ही बुलाया जा रहा है।

CM पुष्कर सिंह द्वारा किया गया निरीक्षण:

CM पुष्कर सिंह ने कहा है कि जल्द ही फंसे हुए कर्मचारियों को बाहर निकाल लिया जाएगा और उन्होंने कहा है कि सभी कर्मचारियों के परिवार को सूचित कर दिया जाए और उन्हें आश्वासन दे दिया जाए की वह अपने परिवारों के सदस्य से जरूर मिलेंगे उन्होंने बचाव एवं राहत कार्यों का अच्छी तरीके से निरीक्षण किया और कहा कि जितने जल्दी हो सके फंसे हुए कर्मचारियों को बाहर निकालें।

और भी जाने:Delhi Air Pollution: बढ़ते प्रदूषण पर काबू पाने के लिए दिल्ली सरकार करेगी इस दिन कृत्रिम वर्षा!

हेलो मेरा नाम Sumit Dubey है| मेरी योग्यता BSC(computer science) और कंप्यूटर के क्षेत्र में किया गया एक Diploma(DCA) है| मैं पिछले 4 वर्षों से Blogging से जुड़ा हुआ हूं| मैंने कई तरह की वेबसाइट बनाई हैं| जिसमें से एक Wideindianews.com है| धन्यवाद...

Leave a comment